ADVERTISEMENT

Bookmark and Share

Register To Recieve Latest Poems On Your Email or Mobile

Enter your email address:

Click Here To Subscribe On Mobile Bookmark and Share

गुरुवार, 14 मार्च 2013

अब कोई राम कृष्ण अर्जुन पैदा क्यों नहीं होता



अब कोई
 राम कृष्ण अर्जुन
पैदा क्यों नहीं होता
क्यों कंस रावण,दुशासन
ही पैदा होते हैं
क्या समय इतना
बदल गया है
या इश्वर इतना
उलझ गया है
पहचान ही नहीं पाता
किस को धरती पर
भेज रहा है
क्या नीचे आने वाले भी
चेहरे पर चेहरा
चढ़ा कर रहते हैं
इश्वर को
राम कृष्ण दिखते हैं
नीचे आते हैं तो
रावण,कंस निकलते हैं
27-27-14-01-2013    
कृष्ण,राम, इश्वर, अर्जुन,
डा.राजेंद्र तेला,निरंतर

2 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत उम्दा सुंदर प्रस्तुति,,,

    बीबी बैठी मायके , होरी नही सुहाय
    साजन मोरे है नही,रंग न मोको भाय..
    .
    उपरोक्त शीर्षक पर आप सभी लोगो की रचनाए आमंत्रित है,,,,,
    जानकारी हेतु ये लिंक देखे : होरी नही सुहाय,

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेहद सुन्दर भाव व्यक्त किये इस रचना से आपने | आज के परिवेश में सही में सवाल यही है जीवन का के ऐसे युगपुरुष क्यों नहीं जन्मते ?


    कभी यहाँ भी पधारें और लेखन भाने पर अनुसरण रूप में स्नेह प्रकट करने की कृपा करें |
    Tamasha-E-Zindagi
    Tamashaezindagi FB Page

    उत्तर देंहटाएं