ADVERTISEMENT

Bookmark and Share

Register To Recieve Latest Poems On Your Email or Mobile

Enter your email address:

Click Here To Subscribe On Mobile Bookmark and Share

गुरुवार, 18 अक्तूबर 2012

किसको भूलूँ ? किस को याद करूँ ?



किस को भूलूँ ?
किस को याद करूँ ?
समझ नहीं आता है
कैसे भूलूँ ,?
क्यों याद नहीं करूँ ?
तय नहीं कर पाता हूँ
किसी ने दिल को लुभाया
जीने का अर्थ बताया
कठिनाइयों से लड़ना सिखाया
किसी ने मन को तड़पाया
जीवन की सच्चाई का
दर्शन कराया
कुछ न कुछ हर एक से पाया
कोई साथ है कोई चला गया
अभी और भी मिलेंगे
जीवन यात्रा में साथी कई
प्रश्न फिर भी
न सुलझ पायेगा
सदा मन को कचोटेगा
किसको भूलूँ ?
किस को याद करूँ ?
डा.राजेंद्र तेला,निरंतर
07-09-2012
725-21-09-12
जीवन,यादें ,भूलना

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें