ADVERTISEMENT

Bookmark and Share

Register To Recieve Latest Poems On Your Email or Mobile

Enter your email address:

Click Here To Subscribe On Mobile Bookmark and Share

मंगलवार, 22 नवंबर 2011

धोरों का,महलों का मेरा राजस्थान

वीरों का,अलबेलों का
धोरों का,महलों का
मेरा राजस्थान
मेलों का,त्योहारों का
रंग रंगीला राजस्थान
जंतर मंतर, आमेर
 बढाए जयपुर की शान
सूर्यनगरी जोधपुर
मारवाड़ की आन
झीलों की नगरी उदयपुर
प्रताप जन्म भूमी मेवाड़
गढ़ चित्तोड़ का सुनाता
पद्मनी जौहर की गाथा
पृथ्वीराज नगरी अजमेर में
बसती
ख्वाजा मोईनुद्दीन की
दरगाह
तीर्थ राज़ पुष्कर में स्थित
पवित्र सरोवर,ब्रह्मा मंदिर
शीश नवाता,स्नान करता
सारा हिन्दुस्तान
शूरवीरों की शौर्य गाथाओं का
मेरा राजस्थान
हाडोती,कोटा में चम्बल 
विराजे
गंगानगर अन्न की खान
ऊंटों का गढ़ बीकानेर
हवेलियाँ देखो शेखावाटी की
भरतपुर में पंछी निहारो
जैसलमेर में सोन किला
घूम घूम कर देखो
मेरा राजस्थान
मीरा डूबी क्रष्ण प्रेम में
दयानंद  ने  लिया  निर्वाण
मकराना का संगेमरमर
ताजमहल की आन
धोलपुर का लाल पत्थर
बढाता लाल किले शान
खनिज संपदाओं से भरा
राजाओं,रजवाड़ों का
मेरा राजस्थान
जन्म भूमी पर मिटने
वालों की
आन,बान,शान का
मेरा राजस्थान
22-11-2011
1807-78-11-11

5 टिप्‍पणियां:

  1. राजस्थान की झांकी बहुत बढ़िया दिखाई है ..

    उत्तर देंहटाएं
  2. राजस्थान की झलक है इसमें.. सुन्दर कविता... राजस्थान टूरिस्म के लिए विज्ञापन का कार्य किया है इसलिए इन रंगों से परिचित हूं...

    उत्तर देंहटाएं
  3. सम्पूर्ण झलक मिल जाई!
    सुन्दर कविता!

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत खूबसूरती से रंग बिरंगे राजस्थान की छटा बिखेरी है,अति सुंदर।

    उत्तर देंहटाएं