ADVERTISEMENT

Bookmark and Share

Register To Recieve Latest Poems On Your Email or Mobile

Enter your email address:

Click Here To Subscribe On Mobile Bookmark and Share

गुरुवार, 19 मई 2011

जीवन भर ,निरंतर आती हैं,यादें

चेहरे पर 
खुशी लाती हैं,यादें
आँखों से 
अश्क बहाती हैं,यादें
दर्द-ए-दिल बढाती
दिल को सुकून देती 
हैं,यादें 
दिल की प्यास 
बुझाती 
ख़्वाबों में  मिलाती
हैं,यादें  
कभी तडपाती 
ज़ख्म हरे करती
हैं,यादें 
कभी हँसाती ,
कभी रुलाती 
कभी सताती 
हैं,यादें ,
हर बात,
हर लम्हे का
अहसास कराती
हैं,यादें 
बिना यादों के 
जीवन अधूरा
जीवन भर साथ 
निभाती हैं यादें 
डा.राजेंद्र तेला,निरंतर
19-05-2011
 888-95-05-11

2 टिप्‍पणियां: