ADVERTISEMENT

Bookmark and Share

Register To Recieve Latest Poems On Your Email or Mobile

Enter your email address:

Click Here To Subscribe On Mobile Bookmark and Share

शुक्रवार, 29 अप्रैल 2011

क्या दर्द कम करेंगे वो ?

जब भी 
मिलेंगे देखेंगे
कैसे मिलते हैं वो?
पहचानेंगे या अजनबी
समझेंगे वो ?
जख्म और देंगे या
मलहम लगायेंगे वो ?
निरंतर
दिल दुखाया उन्होंने
क्या दर्द कम करेंगे वो ?
क्या अधूरी हसरतों को
पूरा करेंगे वो ?
या फिर मंझधार में
छोड़ देंगे वो ?
29-04-2011
776-196-04-11

2 टिप्‍पणियां: